Off Page SEO क्या है और कैसे करें? पूरी जानकारी हिंदी में

2
68

Off Page SEO in Hindi: हेलो अगर आप एक ब्लॉगर हैं तो आपको अपनी Website को Google में rank करवाना बहुत ज़रूरी है क्युकी उससे आपको अच्छा खासा traffic मिलेगा। और उसी rank को बढ़ने के लिए एक सबसे important factor है Off Page SEO या ऑफ पेज एसइओ । आज हम off Page SEO के बारे में ही पढ़ेंगे।

यह एक ऐसे तकनीक है जिसको इस्तेमाल करके हम अपनी Website की Ranking को Search Engine Result Page [SERPs] पर बढ़ा सकते हैं। बहुत सारे लोगों को ऐसा लगता है की Off Page SEO में सिर्फ Link Building करनी होती है पर ऐसा नहीं है । हमारे पास Link builduing के अलावा भी बहुत सारे methods हैं जिनको हम Off Page SEO में इस्तेमाल करते हैं।

अगर हम generally बात करें तो OFF PAGE SEOमें वो सारे Promotional Methods आते हैं जो की Website Design और Development  से अलग होते हैं । और ये मेथड्स हम इसलिए इस्तेमाल करते हैं ताकि हमारी वेबसाइट अच्छी रैंक हो सके।

Off Page SEO के बारे में जानने से पहले आप इन 2 Topics को भी पढ़ लें ।

SEO क्या होता है ?

On Page SEO क्या होता है ?

Off Page SEO क्या होता है?

On Page SEO  की तरह ही Off Page SEO में भी कुछ ऐसी गतिविधिओं होती हैं जिनके ऊपर आपको काम करना होता है ताकि आपकी website, google पर अच्छी position पर rank हो। उनमे से कुछ मुख्य गतिविधियां इस प्रकार से हैं।

  • Link Builduing
  • Social Media Marketing
  • Social Bookmarking

हम इन सभी गतिविधिओं के बारे में बाद में अच्छे से पढ़ेंगे पर उससे पहले में आपको Off Page SEO के फायदे और महत्व बता देता हूँ ।

Off Page SEO महत्वपूर्ण क्यों हैं ?

जैसे की आपको पता ही है की जितने भी Search Engines इंटरनेट पर काम कर रहे हैं वो दिन प्रतिदिन अपने आप में सुधार ला रहे हैं ताकि वो लोगों को सबसे अच्छे result दे सकें।

तो अगर आपको भी अपनी Website को Search Engines में अच्छी जगह रैंक करवाना है तो आपको On Page SEO , Off Page SEO और कुछ दूसरे Quality Factors पर ध्यान देना होगा।

Benefits Of Off Page SEO [ Off Page SEO के फायदे]

अगर हम अपनी Website पर बहुत अच्छे से Off Page SEO करते हैं तो हमे ये निम्नलिखित फायदे होंगे।

Increase in Ranking [रैंकिंग में बढ़ोतरी] : आपकी वेबिस्ते सेरर्च इंजन रिजल्ट पेज पर बहुत ऊपर रैंक होगी जिससे आपको बोहत अच्छा ट्रैफिक मिलेगा।

Increase in Page Rank [पेज रैंक में बढ़ोतरी] : पेज रैंक एक 0 से 10 के बीच में एक नंबर होता है जो की हमे ये दर्शाता है की कोई भी  वेबसाइट का गूगल की नज़रो में कितनी महत्वपूर्ण है।

ये सिस्टम गूगल के फाउंडर्स  Larry Page और  Sergey Brin द्वारा बनाया गया था। शायद यही एक कारण है की गूगल में आपको सबसे अच्छे रिजल्ट मिलते हैं जब भी आप गूगल पर कुछ सर्च करते हैं।

आज के समय में पेज रैंक उन 250 Factors में से एक फैक्टर है जिनको देख के गूगल Websites को रैंक करता है।

More exposure [ज़यादा एक्सपोज़र]: अगर आपकी वेबसाइट बहुत अच्छा रैंक कर रही है तो इसका मतलब है की आपकी वेबसाइट को ज़्यादा एक्सपोज़र मिलेगा क्युकी आपकी वेबसाइट पर फिर ज़्यादा लोग आएंगे। इसके साथ साथ आपकी वेबसाइट को इंटरनेट पर ज़्यादा सोशल मीडिया शेयर्स भी मिलेंगे।

Link Building [लिंक बिल्डिंग]

लिंक बिल्डिंग बहुत ही पुराना और सबसे ज़्यादा सफल तरीका है Off Page SEO में। अगर आसान भाषा में कहूं की अगर आप दूसरी वेब्सीटेस पर होनी वेबसाइट का लिंक बना रहे हैं मतलब आप अपनी वेबसाइट के लिए एक तरह से वोट्स बना रहे हैं ताकि आप अपने प्रतिद्वंद्वी को पीछे करके  ज़्यादा ऊपर रैंक कर सकें।

कोई भी व्यक्ति जब आपकी वेबसाइट को अपने वेबपेज पर लिंक करता है तो जब गूगल के बोट्स उस पेज को रीड करेंगे तो उनको आपकी वेबसाइट का लिंक मिलेगा जिससे वो गूगल को बताएंगे कि आपकी वेबसाइट भी महत्वपूर्ण हैं।

पर इस बात का ध्यान रखना कि अगर आपकी वेबसाइट का लिंक किसी ऐसे पेज पर होगा जो गूगल कि नज़रों में बुरा है तो उससे आपकी वेबसाइट पर बुरा प्रभाव पड़ेगा।

पिछले कुछ सालों में वेबमास्टर्स ने दूसरी वेबसाईटस पर लिंक बनाने के बहुत सारे तरीके ढूंढ लिए उनमे से कुछ मुख्य तरीके निम्नलिखित हैं।

Blog Directories :- इंटरनेट पर ऐसी बहुत सारी Blog Directories जहाँ आप अपने ब्लॉग को सबमिट कर सकते हैं। जिनसे आपको बहुत सारे Backlinks मिलेंगे।

Forum Signature :- आपको इंटरनेट पर बहुत सारे ऐसे Forum मिलेंगे जहाँ आप पूछे गए प्रश्नो का उत्तर देकर अपनी वेबसाइट का लिंक दे सकते हैं।

Comment Link :- जैसे आप किसी फोरम में कोई सुझाव या कमेंट करते हैं और आपको एक Backlink मिलता है वैसे कमेंट लिंक में बिलकुल वही कार्य करना होता है दूसरे Websites के पोस्ट पर Comments करके आप अच्छे लिंक बना सकते हैं।

Article Directories :- इस तरह की डायरेक्ट्रीज में आप अपने वेबसाइट के आर्टिकल्स के लिंक को सबमिट करते हैं जिससे आपको यहाँ से भी एक बैकलिंक मिलता है।

Shared Content Directories :- Hubpages जैसी कुछ वेब्सीटेस हैं जहाँ आप अपने कंटेंट को पब्लिश कर सकते हैं और उसमे आप अपनी वेबसाइट के लिंक्स को ऐड भी क्र सकते हैं जहाँ से आपको अच्छे खासे बैकलिंक्स मिल सकते हैं।

Link Exchange Schemes :- इस तरीके में आप दूसरे वेबसाइट के एडमिन से बात करके लिंक एक्सचेंज कर सकते हैं। मतलब की आप अपनी वेबसाइट पर उसकी वेबसाइट को एक बैकलिंक देंगे और वो अपनी वेबसाइट पर आपको एक बैकलिंक देगा।

एक चीज़ का ध्यान रखियेगा की ये सब तरीके पहले बहुत अच्छे से काम करते थे। पर आज के समय में आप इन तरीकों पर ज़्यादा ध्यान मत दीजियेगा क्युकी अगर आप सर्च इंजन के बनाये गए नियमों को तोड़ेंगे तो आपकी वेबसाइट पर उसका गलत प्रभाव ही होगा।

Black Hat SEO

इंटरनेट पर जो भी Spammers थे वो सब ऊपर बताये गए तरीकों  से अपनी वेबसाइट को काफी अच्छा रैंक करवा लेते थे। क्युकी इन सभी तरीकों  से लिंक बनाना बहुत ही आसान होता था। और ये सभी तरीके Black Hat SEO में आते हैं।

पर जैसे जैसे समय बढ़ रहा है गूगल और भी ज़्यादा समझदार होता जा रहा है। गूगल ने Panda , Penguin , Humming Bird जैसे algorithms बनाके Black Hat SEO गतिविधिओं का पता लगाना शुरू कर दिया है।

अभी भी इनमे से कुछ tricks काम करती हैं पर जैसे जैसे गूगल अपने algorithms में सुधार कर रहा है उसके हिसाब से कुछ समय बाद इनमे से कोई भी ट्रिक काम नहीं करेगी।

Do Follow and No Follow Links

Follow Link का मतलब है जो सामान्य लिंक जो एक वेबपेज को दूसरे वेबपेज को जोड़ते हैं। अगर आपको कोई Do Follow बैकलिंक देता है तो ये गूगल की नज़रों में अच्छा लिंक है। इसका मतलब है की अगर आपको किसी बड़ी वेबसाइट जिसका Domain Authority बोहत अच्छा है ,उससे लिंक मिलहा है तो ये आपकी वेबसाइट के लिए बहुत ज़्यादा अच्छा होगा। और आप भी अगर किसी को ये लिंक देना चाहते हैं तो दे सकते हैं। इस लिंक हम सर्च इंजन को अनुमति देते हैं की उनके bots इस लिंक को भी पढ़ सकते हैं। जिसको हम Technical भाषा में Link-Juice कहते हैं।

नो फॉलो बैकलिंक्स का मतलब है की हम सर्च इंजन को अनुमति नहीं देते हैं की वो हमारी वेबसाइट पर किसी और वेबसाइट के लिंक को पढ़ सके। इसका मतलब है की इस तरह के लिंक्स में लिंक-जूस ट्रांसफर नहीं होता है।

जब भी आप कभी ऐसी वेबसाइट को अपनी पोस्ट या आर्टिकल में लिंक कर रहे हो जिस वेबसाइट पर आपको भरोसा न हो तो आप उसको नो फॉलो लिंक दीजियेगा।

नो फॉलो लिंक के लिए आपको ऐसे लिंक देना होगा ।

“<a href=http://www.example.com rel=”nofollow”>Example</a>

अब इस लिंक की मदत से आपने किसी और की वेबसाइट को लिंक भी कर दिया और इस लिंक से आपकी वेबसाइट को कोई नुक्सान भी नहीं होगा ।

What is a Good Link? [अच्छा लिंक क्या होता है ?]

यहाँ पर अच्छे लिंक का मतलब है की की किसी भी High Domain Authority वाली वेबसाइट से Natural  Do Follow लिंक लेना। उद्धरण के लिए एक Normal Blog के Do Follow लिंक और एक सरकारी वेबसाइट के दो फॉलो लिंक में ज़मीन आसमान का फर्क है। दोनों लिंक्स की वैल्यू बहुत ही ज़्यादा लग है। सरकारी वेब्सीटेस से लिंक्स बहुत ही मुश्किल से मिलते हैं। और इन लिंक्स की वैल्यू बहुत ज़्यादा होती है।

अब बात करते हैं की आप नेचुरल लिंक्स कैसे ले सकते हैं। इसके लिए आपको बस अपनी वेबसाइट पर अच्छा और सबसे अलग कंटेंट बनाना होगा ताकि लोग आपकी वेबसाइट को अपनी वेबसाइट में लिंक करें। इसके अलावा आप बाकी वेबसाइट Admins को मेल करके भी लिंक्स की Demand कर सकते हैं। अगर उन वेबसाइट Admins को आपकी वेबसाइट का कंटेंट पसंद आएगा तो आपको ज़रूर लिंक देंगे। इसके अलावा आप गेस्ट पोस्टिंग से भी अपनी वेबसाइट पर लिंक बना सकते हैं ये भी एक वैलिड लिंक माना जाएगा।

Social Media

सोशल मीडिया भी OFF PAGE SEOका एक भाग है।  ये चीज़ में आपको पहले ही clear कर देता हूँ की सोशल मीडिया पर मिलने वाले सभी बैकलिंक्स No-Follow Backlinks होते हैं। पर इसका मतलब ये नहीं है की इनकी कोई वैल्यू नहीं होती है। सोशल मीडिया पर आपकी वेबसाइट के Shares से आपकी वेबसाइट में अच्छा Traffic आता है जो की आपकी रैंकिंग को भी बढ़ावा देगा।

Social Bookmarketing

पहले के टाइम सोशल बुकमार्केटिंग का ज़्यादा इस्तेमाल होता था पर अभी इस तरीके को लोग ज़्यादा इस्तेमाल नहीं करते हैं। पर ये अभी भी एक अच्छा तरीका है ट्रैफिक को लाने का । आप reddit.com, stumbleupon.com, scoop.it और delicious.com जैसी वेबसाइट पर जाके अपने कंटेंट को प्रमोट कर सकते हैं।

Conclusion

Off Page SEO आपकी वेबसाइट की रैंकिंग बढ़ाने के लिए बहुत ही ज़्यादा अच्छा है। जितना On Page SEO जरुरी है उतना ही Off Page SEO भी जरुरी है। अगर आपको अच्छा रैंक होंगे है Search Engines पर तो आपको दोनों करना होगा। पहले के टाइम में लिंक्स बनाना आसान था। पर आज के टाइम लिंक्स बनाना मुष्किल है पर इसमें एक अच्छी बात है जितनी मुश्किल से आपको कोई लिंक मिलेगा उतनी ही ज़्यादा उसकी वैल्यू होगी।

मेरे हिसाब से तो आपको बस अच्छा कंटेंट बनाने के बारे में ही सोचना चाहिए बाकी का काम अपने आप होता जाता है। अगर आपका कंटेंट अच्छा होगा तो आपको अपने आप ही बैकलिंक्स मिलना शुरू हो जाएंगे।

 

 

 

 

 

 

2 COMMENTS

  1. Your post is good quality content. I derived from facebook on your site and just clicked 2 times on your ads for increasing the revenue.

    don’t worry i will not do an invalid activity just supporting you.

    keep updating more good contents….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here